You are here
49 days of aap Politics 

बिजली दरो में 50% कटौती, बिजली कंपनियों के ऑडिट का आदेश

49 days of aap
दिल्ली में ठण्ड का कहर जारी रहा, हलकी बारिश भी हुई और न्यूनतम तापमान 4 डिग्री तक रहा. अरविन्द केजरीवाल के सेहत में सुधार हुआ लेकिन डॉक्टरो ने उन्हें 2 दिन तक आराम करने की सलाह दी. साथ ही स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन का बयान आया की वो कल से दफ्तर आ सकते है.

परंपरा के अनुसार उप राज्यपाल सबसे वरिष्ठ विधायक को विधानसभा के अस्थायी अध्यक्ष की शपथ दिलाते है और बाद में अस्थायी अध्यक्ष नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाते हैं। उप-राज्यपाल द्वारा अस्थायी अध्यक्ष नियुक्ति किए जाने के बाद मुखी ने कहा, मेरी पार्टी की ओर से फैसला किया गया है कि न मैं और न ही पार्टी का कोई विधायक अस्थायी अध्यक्ष बनेगा। दिल्ली में विधानसभा अध्यक्ष बनाने से कांग्रेस-बीजेपी दोनों ने इनकार कर दिया. इस बिच आम आदमी पार्टी ने एम् एस धीर को अपनी और से विधानसभा अध्यक्ष का दावेदार घोषीत कर दिया.

शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने आज ऐलान किया की नर्सरी एडमिशन के लिए अब अभिभावकों को जगह जगह नहीं घुमाना पड़ेगा. सरकार जल्द ही उनके लिए एक हेल्प लाइन जारी करेगी.

दोपहर तक खबर आयी की दिल्ली सरकार ने बिजली कंपनियों के ऑडिट का फैसला ले लिया है. केजरीवाल सरकार ने तीन बिजली कंपनियों के खातों बीएसईएस, एनडीपीएल, यमुना ट्रांस्को के खातो के ऑडिट के आदेश दे दिए. बिजली कंपनियों के ऑडिट की मांग आम आदमी पार्टी लगातार करते आ रही थी और तत्कालीन मुख्यमंत्री शिला दीक्षित द्वारा यह लगातार कहा जा रहा था की इन कम्पनियों के ऑडिट कराना दिल्ली सरकार के अधिकार क्षेत्र में नहीं है. बिजली कंपनियों के ऑडिट आम आदमी पार्टी के चुनावी वादों में से एक मुख्य मुद्दा था. शाम को केजरीवाल ने दिल्ली सरकार के नेशनल ऑडिटर शशि कान्त शर्मा से मुलाकात की और शशिकांत शर्मा ने बिजली कंपनियों ऑडिट करने की जिम्मेदारी ले ली. केजरीवाल को बुखार होने के बावजूद वो कैबिनेट बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे जिसमे बिजली दरो पर चर्चा मुख्य मुद्दा था.

बैठक के बाद रात 8 बजे बिजली दरो में कटौती की घोषणा कर दी गई. बिजली डरे तक़रीबन 50 फीसदी तक कम कर दी गई जिसका लाभ दिल्ली के 28 लाख परिवारों को मिलने उम्मीद जताई गई. 400 यूनिट तक बिजली के उपयोग पर 50% की सब्सिडी दी गई. केजरीवाल ने कहा की ऑडिट रिपोर्ट आने के बाद शायद हमें सब्सिडी देने की जरुरत न पड़े, और बिना सब्सिडी भी हम बिजली के दाम कम करा पाए. बिजली दरो में कटौती आम आदमी पार्टी का मुख्य चुनावी मुद्दा था. इस घोषणा के साथ सरकार बनाने के तीसरे ही दिन इस 49 दिन की सरकार ने बिजली और पानी से सम्बंधित अपने दोनों चुनावी वादे पुरे कर दिये.

केजरीवाल को लगातार बुखार होने के बावजूद वो अपने निवास पर बैठके कर रहे थे. मुफ्त पानी, बिजली कंपनियों के ऑडिट, बिजली दरो में कटौती जैसे अहम् निर्णय इतनी जल्दी लेने का कारण पूछे जाने पर उन्होंने ने मीडिया को बताया की मेरे पास सिर्फ 48 घंटे है. इसके बाद विधानसभा में विश्वास मत साबित करना होगा और मुझे पता नहीं मेरी सरकार उसके बाद रहे या न रहे. जब तक सरकार में हु मैं आम आदमी के लिए अधिक से अधिक काम करना चाहता हु. मेरी स्वास्थ्य की देखभाल तो इन 48 घंटो के बाद भी हो सकती है लेकिन ये 48 घंटे मुझे सरकार चलने के लिए दोबारा मिलेंगे या नहीं मुझे नहीं पता.

बारिश और कड़ाके की ठण्ड में बेघर लोगो की सुध लेने मनीष सिसोदिया आधी रात को निकले. उन्होंने कई रैन बसेरो का दौरा किया और वहा के लोगो से उनकी समस्याओ के बारे पूछा. लोगो की शिकायते सुनकर सिसोदिया ने वही से अधिकारियो को फ़ोन लगाया. सिसोदिया ने और रैन बसेरे बनाने का आश्वासन दिया और साथ ही आम लोगो से अपील की, की वो भी इस कार्य में सहायता करे. राखी बिरला ने भी कई रैन बसेरो का दौरा किया और वहा की साफ सफाई का जायजा लिया. दौरे के दौरान केयर टेकर वह उपलब्ध नहीं थे तो राखी बिरला ने उन्हें तुरंत फोन कर दिया. यह नजारा न केवल आम आदमी के लिए बल्कि मीडिया के लिए भी अनोखा था. जब सारी दिल्ली नए साल के स्वागत में गानों की धुन पर थिरक रही थी, आम आदमी सरकार के ये मंत्री बेघर गरीबो की सुध लेने आधी रात घूम रहे थे.

शपथ लेने से लेकर अब तक लगातार बुखार होने के बावजूद इस जन नायक ने बिजली और पानी से सम्बंधित अपने दोनों मुख्य चुनावी वादों चौथे दिन ही पूरा कर दिया. 1 जनवरी 2015 की रिपोर्ट कल प्रकाशित होगी.

रैन बसेरो सफाई व्यवस्था का जायजा लेती राखी बिरला

रैन बसेरो का दौरा करते मनीष सिसोदिया

केजरीवाल की प्रेस कांफ्रेस – बिजली दरे आधी

Wanna Discuss? Tag your friends.

comments

Related posts